Posts

रोहिंग्या हिंदू महिला ने सुनाई आपबीती- पति को मारकर मुझे जबरन मुसलमान बनाया

Image
मुझे भी दया आती है उन रोहिंग्या लोगो की दीनता को देखकर, उनके बच्चों की मासूमियत को देखकर.. लेकिन उस समय हमारी यह दयालुता वाली सोच कहाँ चली गई थी जब भारत के सर की पगड़ी कहे जाने वाले प्रदेश कश्मीर से 1.5 लाख पंडितों ने किसी की प्रताड़ना की वजह से पलायन कर गए, अपना वजूद खो बैठे.. वे लोग कहाँ है, क्या एकत्रित होकर परिवार के साथ रहते है ? क्या अपने ही देश-प्रदेश में निवास करते है या कहीं गुमनाम हो गए ?
क्या उनके भी बच्चे आज मुस्कुराते है, किस दयालु व्यक्ति ने उनकी वकालत कर उन्हें सुरक्षा दी, किसने उनको शरण दिया, वो कहाँ के शरणार्थी है अब ? सिर्फ कश्मीर के पंडित ही नही बंगाल के हिन्दुओ वाले चौराहे से लेकर कैराना जैसी गलियों तक बहुत लंबी लिस्ट है, अपने देश के भीतर की पलायन स्थिति को गंभीरता से न लेने वाले लोग आज पराए देश से पलायन कर आए हुए रोहिंग्या लोगो की वकालत कर रहे है, उन्हें शरणार्थी बता रहे है ! क्या यह उचित है ? अथवा इसके पीछे कोई बहुत बड़ा स्वार्थ है ? 
विदेशियों का दर्द इन्हे दिख रहा है, लेकिन जब कश्मीर में हिन्दुओं को मारा जा रहा था, उनको कश्मीर छोड़ने के लिए विवश किया जा रहा था, तब क्…